handi hat in santali language

Santal language story Translate in Hindi हांड़ी हाट

santal language story which is translate santal language to hindi :- हाट बाज़ार , हर ड़ाहार , जात्रा पाता कोरे हांड़ी हाट नेतार गटागे । बूतूल रे तांग हांड़ी , टुकुज रे जावा मेरा,सुपाली दाः, चाला , तीनांगान रोफोल बाटी दलोम काते आबोरिन कुली गीदार खन एहोब काते डांगुआ कुली , आयो आर बूढ़ी आयो को ढाबीज हांड़ी को हाट काआ को   ।

santali language story

अना सुर रे आता बांगखान तिकीया छला मटर , मेरोम लाएज कहरा , उतु डाँगीरी जिल को हाट कातेद  चाखाना आखिरिंग कोहोको दुलुब कोआको । कुटु देया को सुमुंग द बांग ,पेण्ट  दोतो सुट साट हरग कला , सोनो पाऊडर काते हाईहील हरग काते कुली कह चाखना कीरिंग काते हांड़ी को नुया। हांडे नॉनडे चालिया लेका  बनाओ काआको ।माँद बांगखांन झानंटी ते कांथ एटेद आचुर काते लांढा तेको दालोब को कांते सीतुंग हुयुग  आर जापुद हुयुग हांड़ी यु यु  हल नापायरे दुलुब काते आखरींग हांड़ी को यु  याको ॥

अंडे दुलुब लागिद पाट्याको  गाँडो  माचिको दलम को खातिर जिलिन्ज धुति को गोराख को नापाये शालिम गेको दुलुब दालेया  को  । आतु दिसम रिन सालास बाज़ार सेनो हल नयाको नेल काते आडी रास्का को बुझायआ  I तालाम ते बाज़ार सेनोग हल जाओंदो रेन्गेज को खान जौलखिया ताहैंद को , आर नेतार मीद बार टाकारेनांग हांड़ी खान गे लॉज बीइ काना । तालामलांगा  जंIग्गा हांड़ी न्यू काते खिंचोर ते रुआलो आल्गा हाकौआ ॥

Santal language story to Hindi Translate

Read this story in santali language हांड़ी नीतोग लागिद रेगेंज  हल कोआग मीदटांग बेपार आकाना  । मीदटांग अलाग खन लेका एतोहाब काते रेगेंज हल कोआग कौड़ी मुटुल लेकाते बहग ए तूल आकाय । नआ रेयाग आरजाओ ते रेगेंज को अकोयाग हुडिंग मारांग लानाक्ति को पेरेजेद ताकोआ । हप्ता पाली , सीतुंग , तारासिंज सुमुंग बेपार कातेह जाहा तीन उलीज को आरजाओ दालेयाग कान गेया  ॥

santali to hindi language story
santali to hindi language story

अना मीद लेकान बाहाल (एन्गेजमेन्ट) ए एमा हाको काना आर अलाग चलाओ  रे मीदटांग गल हाको काना । रांड़ी ऐरा,हेमे ऐरा आर हटिंज आकान हल को एटाग हलाग बांग खान घारोज बाय लाहागआ   । चंदा बाला खन एहोब काते चास बास जोतोआ रे हल बांगखांन चेदहो बाए गानो आ    । एखान जोतोआ ते माहरग हल को हांड़ी आखरिंज लेकान कामी साब काते आलगातेको बानचाऊ काना ।  हांड़ी आखिरिन्ज काते काउडी को आरजाओ जोंग कानते हल आचू बाला काते आबोआ लाक्ति को पेरेजआ  । बांगखांन रेन्गेज हल नोआ अकारेम दो आचू हलेम एम् दालेयाकोआ ?

जाओदो हांड़ी दहय कान ताहेद बोंगा बुरु को दुल चडर आक लागिद । सारेजाग द पुलसा को नू हॉटीज ताहेद बोंगा सारेज लेकाते । अनाते बोंगा पाराब रे बोंगा बाखरा आर हल पाराब रे हापलाम बोंगा दुल  चडर आक लागिद हांड़ी दो आबोआ लाक्चार काना  ॥  लाकति रेयाग हांड़ी ते पेला हो को बेभार एद ताहेद । मेनखान नआ अक्तो जोनिज लक्तिया आबो लागिद बो खज लेगा हप्ता पाली कोरे आर अना नित दिन हिलेगा आकाना  ।

माणाग दनाः हांड़ी आबबो नूयेद ताहेद बोंगा सारेजा लेकाते लाक्चार रे मैना लेकाते । मेनखान नआ अक्तो जोनिज लक्तिया आबो लागिद बो खज लेगा हप्ता पाली कोरे आर अना नित दिन हिलेगा आकाना  । माणाग दनाः हांड़ी आबबो नूयेद ताहेद बोंगा सारेजा लेकाते लाक्चार रे मैना लेकाते   । (santali language story )

Above all content are from “Lepej Tiril” Santali Book

Direct link to Online Shopping site Click Here

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *